CBSE EXAM DATE OUT 2020-21

 CBSE EXAM DATE OUT 2020-21:- CBSE बोर्ड की परीक्षाएं 4 मई से 10 जून तक होंगी, 15 जुलाई तक रिजल्ट जारी किया जाएगा

शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने गुरुवार को CBSE की 10वीं और 12वीं की परीक्षाओं की तारीखें घोषित कीं। उन्होंने कोरोना के बावजूद मेहनत करने के लिए स्टूडेंट्स और टीचर्स की तारीफ की।

#BigBreakingNews – 10वीं और 12वीं बोर्ड की परीक्षा की तारीखों का ऐलान

4 मई से 10 जून तक होगी बोर्ड की परीक्षा, 15 जुलाई को रिजल्ट आ जाएंगे, शिक्षा मंत्री  @DrRPNishank ने #CBSE की बोर्ड परीक्षाओं की तारीखों की घोषणा की

#cbseboardexams #CBSENews #cbseexams 

@cbseindia29 #CBSE

CBSE EXAM DATE OUT 2020-21

सेंट्रल बोर्ड ऑफ सेकेंडरी एजुकेशन (CBSE EXAM DATE) की 10वीं और 12वीं की बोर्ड परीक्षाएं 4 मई से 10 जून के बीच होंगी। 15 जुलाई तक रिजल्ट जारी कर दिया जाएगा। इसके पहले, 1 मार्च से प्रेक्टिकल परीक्षाएं शुरू होंगी। शिक्षा मंत्री डॉ. रमेश पोखरियाल निशंक ने शाम 6 बजे छात्रों को संबोधित करते हुए कहा- कोरोनाकाल में आप लोगों ने जैसे खुद को तैयार किया है वो काबिले तारीफ है। अध्यापक और अभिभावकों के प्रति मैं आभारी हूं।

शिक्षा मंत्री ने कहा- CBSE बोर्ड के चेयरमैन लगातार परीक्षा के सिस्टम पर नजर रखे हुए हैं। पूरा सिस्टम आपके साथ जुड़ा है। विदेशों में जो CBSE स्कूल चल रहे हैं, उन्हें भी चिंता करने की जरूरत नहीं है। निशंक ने बताया कि 25-26 देशों में चल रहे CBSE स्कूलों के लिए भी इंतजाम किए जा रहे हैं।

शिक्षा मंत्री ने कहा- कोरोना के बावजूद साल खराब नहीं होने दिया
निशंक ने कहा- हमने अपने बच्चों का साल खराब नहीं होने दिया। सुरक्षा, सजगता के साथ हमने परीक्षा कराई है और साल खराब होने से बचाया है। छात्रों ने भी जिस मनोबल से काम किया है ये एक अद्भुत उदाहरण है। हमारे देश में 33 करोड़ छात्र-छात्राएं हैं। ये अमेरिका की कुल आबादी से भी ज्यादा है।

स्टूडेंट और टीचर्स ने डिजिटल लर्निंग के लिए खुद को ढाला डिजिटल लर्निंग पर उन्होंने कहा- कोविड-19 के संकट के दौरान भी हमारे छात्रों और हर किसी ने चुनौतियों का सामना किया। अध्यापकों ने योद्धा बनकर इस दौरान काम किया। डिजिटल पढ़ाई हुई। हर छात्र-छात्राओं ने खुद को तैयार किया। हां, कुछ छात्र-छात्राएं हैं जिनके पास स्मार्ट फोन नहीं था। लेकिन हमने टेलीविजन और रेडियो के माध्यम से ऐसे छात्रों के लिए काम किया।

कोरोना के बीच देश में 25 करोड़ छात्रों ने ऑनलाइन पढ़ाई की निशंक ने कहा- कोरोना के बावजूद हमारी व्यवस्था और शिक्षा चरमराई नहीं है। हमने सभी से संवाद किया और जो भी कठिनाई आई हमने मिलकर उसका सामना किया। देश के 33 करोड़ छात्रों में से 25 करोड़ छात्रों ने ऑनलाइन पढ़ाई की। कोरोनाकाल में दुनिया की सबसे बड़ी परीक्षा जेईई और नीट हुई।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *